बीजेपी सांसद विनोद खन्ना का हो गया है ये हाल, जानिए पूरा मामला

विनोद खन्ना बॉलीवुड के सुपरस्टार रह चुके है और उनकी अदाकारा वाकई लाजवाब थी। लेकिन कुछ समय से विनोद खन्ना की तबियत सही नहीं चल रही है इसलिए उन्हें पिछले शुक्रवार को गिरगांव के एचएन रिलायंस फाउंडेशन एंड रिसर्च सेण्टर में भर्ती करवाया गया। मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, विनोद खन्ना को डिहाइड्रेशन की वजह से उन्हें एडमिट करवाया गया। मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, विनोद खन्ना करीब सालभर से ही किसी गंभीर बीमारी से लड़ रहे हैं।

बताया जा रहा है कि, वर्ष 2015 में रिलीज़ हुई उनकी फिल्म ‘दिलवाले’ के बाद वह किसी भी फिल्मों में नजर नहीं आये। हालाँकि, इन दावों को लेकर भास्कर ने ये बताया है कि, वह इन बातों की पुष्टि नहीं करता है। अभी हाल ही में उनकी एक तस्वीर सामने आई है और उनकी तस्वीर को देखकर अंदाजा लगाया जा सकता है कि, विनोद खन्ना की तबियत में किस कदर तेजी से गिरावट आई है।

विनोद खन्ना में अपने करियर में अब तक 144 फिल्मों में काम कर चुके है। विनोद खन्ना की इस तस्वीर को देखकर कई तरह की अटकलें लगाई जा रही है कि, आखिर वह किस बीमारी से जूझ रहे हैं। लेकिन इस बारें में उनका परिवार कुछ भी बताने के लिए बच रहे हैं। हालाँकि, कुछ रिपोर्ट्स के अनुसार, यह दावा किया जा रहा ही कि, बीजेपी सांसद विनोद खन्ना के संसदीय क्षेत्र पंजाब के गुरदासपुर में उन्होंने खुद कुछ महीनों पहले यह बताया था कि, उन्हें वर्ष 2010 से कैंसर की बीमारी है और यही कारण है कि, वह पब्लिक मेंन ज्यादा सक्रीय नहीं हैं।

विनोद खन्ना अपनी दूसरी पत्नी कविता के साथ !

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, यह भी बताया जा रहा है कि, उनकी लाडली बेटी श्रृद्धा और उनकी दूसरी पत्नी कविता को सदमा न लगे, इसलिए उन्होंने कैंसर की बात को काफी लंबे समय तक छिपाए ही रखा। विनोद खन्ना की पहली पत्नी गीतांजली से उन्हें दो बेटे है राहुल और अक्षय खन्ना। इसके बाद विनोद खन्ना को दूसरी पत्नी से भी दो बच्चे है एक बेटी और एक बेटा, बेटी का नाम श्रृद्धा और बेटे का नाम साक्षी हैं।

विनोद खन्ना का जन्म वर्ष 1946 में पाकिस्तान के पेशावर में हुआ था। बंटवारा होने के बाद विनोद खन्ना का परिवार मुंबई में बस गया। विनोद खन्ना के पिता एक बिजनेसमैन थे और विनोद खन्ना साइंस के छात्र थे और वह आगे जाकर इंजीनियर बनना चाहते थे। लेकिन उनके पिता का सपना था कि, विनोद कॉमर्स लेकर उनका बिज़नस संभाले। इसलिए उनके पिता ने उनका एडमिशन कॉमर्स कॉलेज में करवाया लेकिन वहां पर उनका मन नहीं लगा।

विनोद खन्ना अपनी पहली पत्नी गीतांजली के साथ !

बॉलीवुड में कदम रखने से पहले उनकी मुलाकात सुनील दत्त से हुई और सुनील दत्त के भाई अपनी होम प्रोडक्शन की एक फिल्म बना रहे थे और उन्हें एक नए हीरो की तलाश थी। सुनील दत्त ने देखा कि, विनोद खन्ना ऊँची कद-काठी के के है तो उन्होंने ‘मन का गीत’ फिल्म के लिए ओफ्फेरकर दिया और इस फिल्म से ही उनकी एंट्री बॉलीवुड में हुई। लेकिन इस बात विनोद खन्ना के पिता बहुत नाराज हुए। क्योंकि उनके पिता नहीं चाहते थे कि, उनका बेटा फिल्मों में काम करें। इसलिए उन्होंने नाराज होकर अपने बेटे पर बंदूक भी तान दी थी।

विनोद खन्ना ओशो के आश्रम में पांच साल बीताएं !

लेकिन बाद में विनोद खन्ना की माँ ने उन्हें मना लिया। फिर बाद में धीरे-धीरे बॉलीवुड में उन्होंने अपना कदम मजबूत कर लिया और वह आगे बढ़ते चले गए। इसके अलावा वर्ष 1980 से के दौरान बॉलीवुड एक्टर विनोद खन्ना ओशो से बहुत प्रभावित हुए और उनके आश्रम में उन्होंने पांच साल तक गुजारे। ओशो के आश्रम में विनोद खन्ना एक माली के रूप में काम करते रहे और अचानक से ही उन्होंने फिल्मों से ब्रेक ले लिया था।

विनोद खन्ना पहली पत्नी गीतांजली के साथ !

इसके बाद से ही उनका परिवार उनसे बिछड़ने लगा था। उन्होंने अपनी पहली पत्नी के साथ 14 साल गुजारे और उसके बाद उन्होंने अपनी पहली पत्नी गीतांजली से तलाक ले लिया। फिर उसके बाद उन्होंने अपनी दूसरी पत्नी कविता से शादी की और उनसे उन्हें दो बच्चे हुए।